Krishi Vigyan Kendra, Vaishali, Bihar

कृषि विज्ञान केन्द्र की कार्य अभिरचना

  1. व्यवसायिक प्रशिक्षण

    सारे वैज्ञानिक अपने स्वीकृत वार्षिक कार्य योजना के अनुसार किसानों, युवाओं, किसान महिलाओं के लिए उनकी समस्याओं एवं आवश्यकतानुसार केन्द्र पर या केन्द्र के बाहर, अल्पावधि एवं दीर्घावधि प्रशिक्षण देते हैं ।

  2. प्रक्षेत्र जाँच

    इसके अन्तर्गत शोध संस्थानों से निकले हुए तकनीक किसानों के खेतों पर पहले प्रयोग किये जाते हैं । अगर परिणाम सकारात्मक हो तो उस तकनीक को सारे कृषकों के बीच दिया जाता है ।

  3. प्रथम-पंक्ति प्रत्यक्षण

    शोध संस्थानों पर पहले से जाँची-परखी तकनीकों को किसानों के बीच उनके खेतों पर प्रत्यक्षण कराया जाता है ।

  4. प्रसार पदाधिकारियों के लिए प्रशिक्षण

    नयी तकनीकों के बेहतर प्रचार-प्रसार के लिए प्रसार पदाधिकारियों को उन तकनीकों से प्रशिक्षण दे कर अवगत कराया जाता है ।

  5. बीज ग्राम की स्थापना

    कृषकों के खेतों पर ही सारी तकनीकी जानकारियाँ देकर सभी फसलों के अच्छे, प्रमाणित एवं स्वस्थ बीज बनाना ।

कृषि विज्ञान केन्द्र, हरिहरपुर, वैशाली (बिहार)